आबुनाथस्वामी अबधूत विश्वगुरु महामण्डलेश्वर परमहंस श्री महेश्वरानन्द पुरीजी, पंचायती महानिर्वाणी अखाड़ा

मैं जो भी कहता हूं वह महाप्रभुजी के ही शब्‍द हैं । वेदों और उपनिषदों में जो कहा गया है वह महाप्रभुजी ने कहा है । मेरी इच्‍छा आप सब को केवल शरीर से ही स्‍वस्‍थ व सुन्‍दर बनाने की नहीं है, मैं तो आपको जन्‍म मरण के बन्‍धन से ही छुटकारा दिलाना चाहता हूँ । मेरा प्रयास आपके समस्‍त कर्मों को ही काट देने का है । मैं उस सबसे बडे वकील से आपकी वकालत कर रहा हूं और करता रहूंगा कि जब आप इस संसार से जाएं तो आप खाली हाथ न जायें उस समय आपके साथ असली ज्ञान की ज्‍योति भी हो जो आपको परम प्रभु से मिला दे ।

June 2022

ग्रीष्मकाल की शुरुआत विश्वगुरु जी के साथ

 
एक और ग्रीष्मकाल की शुरुआत हुए विश्वगुरुजी के सानिध्य में। विश्वगुरुजी महामंडलेश्वर परमहंस श्री महेश्वरानंद जी Czech Republic के Strilky के महाप्रभुदीप आश्रम पधारे।
May 2022

सभी को स्नेह और आशीर्वाद

 
विश्वगुरु परमहंस श्री स्वामी महेश्वरानंद जी ने वसंत ऋतु के आखरी दिनों में भारत रुके अपने आश्रमों और अपने भक्तों के साथ।